पाकिस्तान के आईएसआई द्वारा दामिनी मैक्नॉट जैसे कितने यौनाचार बंधको को लगाया जायेगा? किसी को फंसाने के लिये फेसबुक पर मित्रता का निवेदन सबसे आसान रास्ता है!

Posted on by Rohan Desai
 
  

परमाणु हथियारों से सज्जित पाकिस्तान अपने आपको शर्मिंदा करने की विशेष रूचि से उबर पाने में दिखायी नहीं पड़ रहा है। यह देश अपने क्रूर प्रतियोगिता के साथ बार बार आ रहा है, जबकि कोई प्रतियोगिता ही नहीं है। भारत प्रत्येक दशा में पाकिस्तान को हरा देगा, लेकिन यह हमारे पड़ोसी के साथ अच्छा नहीं होगा।

ny2

पाकिस्तान की हाल ही की निर्भीकता के कारण एक परिवार के स्वप्नों की हत्या हो गयी है। वायु सेना के एक छोटे अधिकारी के के रंजीत, स्वयं और अपने परिवार के साथ, अचानक से गिर चुके है। विक्षिप्त और शक्तिहीन, वे फिर कभी खड़े नहीं हो सकते हैं। हम रंजीत को यौन-भूखा होने के लिये दोषी ठहरा सकते हैं, लेकिन हममे से बहुत लोग नहीं करेंगे? क्या हम सभी किसी महिला की खूबसूरती के शिकार नहीं होते हैं, विशेषतौर पर अगर वह खूबसूरत अजनबी हो? रंजीत ने जो किया वह गलत था, लेकिन यह मानव कमजोरी का एक कारण भी हो सकता है।

मीडिया खबरों के अनुसार, रंजीत को पहले मोहित किया गया और इसके बाद एक निचली ज़िंदगी की, आईएसआई से नियुक्त, दामिनी मैक्नॉट द्वारा फुसलाया गया, जिससे वह फेसबुक पर मिले थे। रंजीत को फेसबुक पर मित्रता का निवेदन इस महिला द्वारा किया गया था जिसके बाद उसने अपनी प्रोफाइल फोटो को सुसज्जित वेशभूषा में सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट पर डाला गया। मैक्नॉट ने यूके की एक शीर्ष पत्रिका के सम्पादक का नाटक किया था और बहुत प्रेम से रंजीत को, इस वादे के साथ कि उसे बड़ा लाभ दिया जायेगा, एक रक्षा विशेषज्ञ के रूप में सहायता के लिये दबाव दिया था।

ny3

पूर्व वायु सेना व्यक्ति रंजीत इस घातक तथ्य से अनभिज्ञ थे कि वह पाकिस्तानी आईएसआई के सम्पूर्ण भारत जासूसी जाल के हाथों शिकार हो चुके थे। और गरीब व्यक्ति को संवेदनशील जानकारी देने के लिये महज 35000 अदा किया गया, जबकि वह इसके लिये 35 लाख मांग सकते थे। आईएसआई अदा कर सकता था।  रंजीत को नहीं फसना चाहिये था। भारत का राष्ट्रीय हित यौन और धन से भी बड़ा है लेकिन जब उन्होंने किया, तब उन्हें अधिक धन के लिये दामिनी  को दुहने के लिये पर्याप्त चतुर भी होना चाहिये था।

उनके निर्देश, गूगल सेटेलाइट चित्रों के इस्तेमाल के द्वारा भटिंडा में महत्वपूर्ण ठिकानों पर विशेष निशान देते थे। बेचारा रंजीत दामिनी के शारीरिक वादों के संदर्भ में गिराया गया, यहाँ तक कि उन ऊंचाई वाले बिंदुओं को दिखाया गया था जहाँ से वायु सेना अड्डा दिखायी देने योग्य है। जाल में फंसाये जाने के एक वर्ष के अंदर उन्होंने बहुत नुकसान किया। हमें रंजीत को उसकी कमजोरियों के लिये दंडित करना चाहिये, हमें आईएसआई के घातक रूपों को द्विपक्षीय वार्ता के भरोसे भी नहीं छोड़ना चाहिये।

ny4

रंजीत हमारे हाथों में, हमारे नियंत्रण के अंदर है हम उसे किसी भी प्रकार से दंडित कर सकते हैं जैसा कि हम करना चाहते है। आईएसआई नहीं है। वे गलत प्रकार के आवारा है और उस प्रकार से इनके साथ व्यवहार नहीं हो रहा है जैसा कि चीन, अमेरिका या इज़रायल करते हैं। जब वे धमकी देते है, तब वे आते है और काम पूरा करके चले जाते हैं। बाद में वे “आप ऐसा करने की हिम्मत कैसे कर सकते है” के साथ अंतराष्ट्रीय स्तर पर शोर करते हैं। उनके लिये, राष्ट्रीय हित और भावनाये पहले आते हैं। आईएसआई पाकिस्तान के दुष्ट हितों के लिये हमारे मित्र भाइयों को धोखा देने की कोशिश कर रहा है। मैं कहता हूं वे ऐसा करने की हिम्मत कैसे कर सकते हैं?

यह खतरा बहुत बड़ा है। विशेष प्रकोष्ठ जो इस मामले की जांच कर रहा है उसका विश्वास है कि अन्य दूसरे रक्षा व्यक्तियों को भी आईएसआई कि कार्य प्रणाली द्वारा मूर्ख बनाया गया हो सकता है। पाकिस्तानी खूफिया एजेंसी ने एक पढ़ी लिखी ब्रिटिश उच्चारण वाली लड़की को नियुक्त किया जिसे वे रक्षा व्यक्तियों को जाल में फसाने के लिये उपयोग करते हैं जिससे कि उन्हें संवेदनशील जानकारियां मिल सकें, जांचकर्ता ऐसा विश्वास करते हैं।

ny5

इस ‘मधु जाल’ मे महिलायें भी फसाई गयी हैं ग़रीब लड़को द्वारा । कौन जानता है और क्या सहने के लिये उन्हें दबाव दिया जाता है? आईएसआई के शीर्ष अधिकारियों के साथ सम्बंध? दामिनी की तरह, कई अन्य अवश्य हैं जो पाकिस्तान की आईएसआई की यौन दास है।

Tagged , , , |