प्रेम एक तरफा नहीं हो सकता है, ज़ी के सुभाष चंद्रा ने कहा, अपने उस निर्णय पर जिसमें उन्होंने ज़िंदगी पर पाकिस्तानी धारावाहिकों पर प्रतिबंध लगाया

Posted on by Arnab
 
  

ज़ी टीवी के मालिक और सांसद सुभाष चंद्रा चंद्रा अपने शब्दों को कम करके आंकना पसंद नहीं करते हैं। एक आदमी जो अटल देशभक्ति के लिये जाना जाता है, राज्य सभा सांसद ने कहा “प्यार एक तरफा नहीं हो सकता है” ।

चंद्रा, जो हरियाणा से सांसद हैं, ने अपने उस निर्णय को बताया जिसमें उन्होंने ज़ी के ज़िंदगी चैनल से सभी पाकिस्तानी कार्यक्रमों को हटाने का निर्णय लिया था। मंगलवार को एक संवाददाता सम्मेलन में चंद्रा, ने घोषणा किया कि आने वाले 3 अक्टूबर से, ज़िंदगी ऐसे किसी भी कार्यक्रम का प्रसारण नहीं करेगा जिसे पाकिस्तान से लाया गया था।

Subhash Chandra

सुभाष चंद्रा के ज़ी टीवी टीम को चर्चित पाकिस्तानी कलाकारों के सम्पर्क पाया गया है

हम लोगों की तरह, सुभाष चंद्रा भी हाल ही में उरी क्षेत्र में हुये आतंकी हमले से व्यथित हैं। पाकिस्तानी आतंकियों के द्वारा किये गये हमले में 18 भारतीय जवानों की मौत हो गयी। चंद्रा के ज़ी टीवी टीम के लोगों ने चर्चित पाकिस्तानीं कलाकारों फवाद खान, माहिरा खान, अली ज़फर, शफक्त अमानत अली खान, राहत फतेह अली खान, आतिफ असलम, वीना मलिक और इमरान अब्बास से “सोते हुये सैनिकों पर आतंकी हमले की निंदा करने के लिया” सम्पर्क किया था।

इन सभी पाकिस्तानी कलाकारों को भारतीय सरज़मी पर महत्व मिल चुका है क्योंकि भारत कला के विषय में भेदभाव नहीं करता है। चंद्रा इन कलाकारों और गायकों से आतंकी हमले के खिलाफ उनकी आवाज़ उठवाना चाहते थे।

“हमने यहाँ तक कहा कि पाकिस्तान का नाम मत लीजिये, लेकिन उन्होंने ऐसा भी नहीं किया…..क्या करते?” व्यथित सुभाष चंद्रा ने कहा था।

Zindagi Gulzar Hai

एक चित्र चर्चित पाकिस्तानी धारावाहिक ज़िंदगी गुल्ज़ार है जिसमें ज़िंदगी चैनल पर प्रसारित किया गया था।

ज़िंदगी चैनल को 2014 में शुरू किया गया था, और इसने रोचक पाकिस्तानी टीवी धारावाहिक का प्रसारण करके बहुत सारे दर्शकों को एकत्रित कर लिया था। कलाकार फहाद खान भारतीय घरों का नाम बन गया था, इस चैनल पर दिखाये गये रोचक धारावाहिकों को धन्यवाद दिया जाना चाहिये।

ज़िंदगी के पास अब तक न दिखाये गये 3000 घंटों के पाकिस्तानी कार्यक्रम हैं। चंद्रा का हाल में लिया गया निर्णय उन्हें कई करोड़ का नुकसान करायेगा। लेकिन उन्हें इसकी परवाह नहीं है; उनके लिये पैसा देश के बाद आता है। उनकी मान्यता है कि भारत के दूसरी तरफ सरहद पार के कलाकारं लाखों भारतीयों की भावनाओं के साथ आवाज़ नहीं मिला सकते।

ज़ी के ज़िंदगी के पाकिस्तानी कलाकार

यद्यपि, चंद्रा यह नहीं चाहते है कि प्यार और शान्ति के लिये कुछ न किया जाय। उन्हें उम्मीद है कि भारत पाकिस्तान सम्बंध एक दिन जरूर सुधरेंगे, और सभी एक साथ काम करेंगे।  “हमारे दरवाजे हमेशा के लिये बंद नहीं है” सांसद ने कहा।

Tagged , , , , , , |