आलोचना के घेरे में वोल्क्सवैगन ने मर्सडीज़-बेंज़ को जला दिया! अन्य यूरोपियन कार निर्माता सुरक्षा के लिये भाग रहे हैं?

Posted on by Salma Khan
 
  

मर्सडीज़-बेंज़ निश्चित रूप से वोल्क्सवैगन समूह की घेराबंदी को बुरा भला कह रही होगी! ठीक वैसे ही जैसे नेस्ले की मैगी पर लगाये गये बैन ने अन्य खाद्य उत्पादों में आग लगा दी थी, उत्सर्जन मानकों का धोखा देने के लिये, वोल्क्सवैगन वैश्विक निशाने पर है, साथ ही मर्सडीज़ बेंज को भी घपले में घसीट लिया है। ऐसा सम्भव है कि अन्य यूरोपियन कार निर्माताओं को अब जांच का सामना करना पड़ेगा।

m1

एक यूरोपियन प्रकोष्ठ समूह ने खुलासा किया है कि मर्सडीज़-बेंज़ जो  लगातार दूसरे वर्ष के लिये अतिशयोक्ति ईधन मितव्ययिता के लिये कार निर्माताओं की सूची में शीर्ष पर है। जहाँ अब तक वोल्क्सवैगन हुआ करता था, मर्सडीज़ अपनी चोरी में विश्वास करता था, उन्होंने कभी सोचा नहीं होगा कि वे जांच के घेरे में आ जायेंगे।  ऐसा तो होना ही था कि बेंज़ को विशेष ध्यान दिया जायेगा। वोल्क्सवैगन एजी के डीज़ल इंजिन जांच घपले ने विश्व के महंगे कार निर्माताओं को हिला दिया हैं।

इस दुष्टता, के घपले के आकार, का अंदाज़ा लगा पाना बहुत कठिन है। साजो सामान से सुसज्जित इसकी 11 मिलियन कारें हो सकती हैं। उनके सामनों की भी जांच यूरोप में होनी है, जहाँ उनकी बड़ी संख्या में बिक्री है सबसे अधिक बिक्री में शामिल है- ए4 सिडान और क्यू5 स्पोर्ट्स यूटिलिटी गाड़ियां- जो साफ्टवेयर से युक्त है जिसके ऊपर उत्सर्जन जांच घपले का आरोप है।

m2

वोल्क्सवैगन की कार्यप्रणाली बहुत सफल होने के कारण वे सात सालों तक अस्तित्व बनाये रखे! इसने उत्सर्जन जांच प्रणाली को एक चालाकी भरे साफ्टवेयर की मदद से धोखा दिया जिसे महसूस किया जा सकता था जब इसे हानिकारक उत्सर्जन के लिये जांचा जाता। एक बार जब इस जांच को किया गया, इसने मानक स्तरों को पाने के लिये  हानिकारक उत्सर्जन को घटा दिया।

सात सालों तक जर्मन कार निर्माता वोल्क्सवैगन ने सन्युक्त राज्य अमेरिका और उनकी तकनीकी दृष्टि से उन्नत आधारिक ढ़ांचे और मशीनों को मूर्ख बनाया। वस्तुत:, वे  लगातार उत्सर्जन के अमेरिकी मानकों का उल्लंघन करते रहे होंगे और, कौन जानता है, सम्पूर्ण विश्व में, अचानक किसी की खोज नहीं होती।

इसकी शुरुआत कैसे हुयी

2008 में, अमेरिका ने कठोर उत्सर्जन नियमों को प्रस्तावित किया। इस स्तर को पाने के लिये कई कार निर्माताओं ने यूरिया -एड्ब्लू  को इस्तेमाल करना शुरू किया। यह एक रासायनिक उत्प्रेरक का प्रयोग करता है जिससे कि निकास में बिना जला ईंधन अपनी जगह नहीं पाता है। वोल्क्सवैगन इस रास्ते पर नहीं चला। इस मौके को अलग खड़ा होने और महंगे एडब्लू पर खर्च से पैसा बचाने के लिये, वोल्क्सवैगन ने घोषणा किया कि वह नियामक स्तर, को बिना एड्ब्लू को मिलाये, पाने के लिये सुसज्जित था।

m3

यह दावा केवल ज्ञान पर आधारित था जो केवल एक मात्र तरीका है जिससे उनकी घोषणा हेरफेर और उत्सर्जन नियंत्रण सही साबित होगी। जर्मन इंजीनियरों ने खूब जश्न मनाया, यह बहुत थोड़ा सा सॉफ्टवेयर विकास चाहेगा जो उनके दुखते बिंदु को सामान्य कर देगा।

2013 में, वोल्क्सवैगन का खुश्नुमा सफर खत्म हो जाता है। इस चोट की गहराई बहुत साफ नहीं है, लेकिन वोल्क्सवौगन के पुराने बॉस मार्टिन विंटरकॉर्न के खिलाफ जांच शुरू हो चुकी है। तीन शीर्ष इंजीनियर बर्खास्त हो चुके हैं। आगे की जांच कई नामों का खुलासा करेगी………..

स्वच्छ परिवहन पर अंतर्राष्ट्रीय परिषद ने वेस्ट वर्जीनिया विश्वदिद्यालय के साथ वोल्क्सवैगन डीज़ल कार पर अध्य्यन के लिये जुड़ी है। इसने उनकी सफलता की कहानी के मंत्र को समझ लिया था। वे अनैतिक और अपराधी व्यवहारों के संदेह तक नहीं पहुंचे थे।

m4

2012 में वोल्क्सवैगन जेट्टा, 2013 में वोल्क्सवैगन पैस्सट और बीएमडब्ल्यू एक्स5 एसयूवी की जांच प्रयोगशाला और सड़क परिस्थितियों पर हुयी। परिणामों ने यह दिखाया कि वोल्क्सवैगन ने नाइट्रस ऑक्साइड को उच्चतम सीमा से 15 से 35 गुना अधिक उत्सर्जन किया, पैस्स्ट ने उच्चतम सीमा से 5 से 20 गुना अधिक उत्सर्जन किया। इस बीच, बीएमडब्ल्यू सामान्य ड्राइविंग परिस्थितियों में सभी मानको को प्राप्त किया।

इस खौफनाक खोज ने अमेरिकी जलवायु और पर्यावरण प्राधिकारियों को सूचित किया था, जिन्होंने अपनी जांच शुरू किया था। वोल्क्सवैगन ने निष्कर्ष को विवादित कर दिया, लेकिन दिसम्बर 2014 में ऐच्छिक रुप से 500,000 कारों को वापस बुला लिया, जिससे कि एक सॉफ्टवेयर के अंश को डाला जा सके जो समस्या का समाधान कर देगा। ऐसा नहीं हुआ।

यह केवल गहरी जांच के बाद हुआ, जो घपलेबाजी की चालाकी था। स्विच ने स्टेयरिंग व्हील, गाड़ी की चाल, इंजन कितने समय तक चला और बैरोमेट्रिक दबाव को जांचा। अगर कोई इनके मूल्य को गाड़ी की जांच में डालता है तो सॉफ्टवेयर हानिकारक उत्सर्जन को परिक्षा में उत्तीर्ण कर लेगा। अगर वह महसूस करता है कि कार को सड़क पर चलाया जा रहा ना कि प्रयोगशाला में तो वह स्विच अन्य अंशशोधन करता है जो निकास नियंत्रण को बंद कर देता है।

car exhaust pipe

ऐसे उपकरण का कार में प्रयोग स्वच्छ वायु मानकों से बचने के लिये नियम विरूद्ध और जनसामान्य के स्वास्थ्य के लिये खतरा है। उन्होंने अपने लाखों ग्राहकों का दिल तोड़ा है।

द गार्जियन के विश्लेषण के अनुसार विश्वभर में 11 मिलियन कारें प्रभावित हुई है जिन्होंने इतनी मात्रा में  प्रदूषण का उत्सर्जन किया हो सकता है जो सम्पूर्ण यूके के हर साल के सभी पावर स्टेशनों, गाड़ियों, उद्योंगों और कृषि के उत्सर्जन के बराबर होगा- 948,691 टन नाइट्रस ऑक्साइड।

आंकड़े बताते हैं कि 482,000 अमेरिकी कारें एक मानक अमेरिकी माइलेज के सालाना 10392 से 41,571 टन नाइट्रस ऑक्साइड के बीच बिना शिकायत के मूल रूप में जारी की जा चुकी हैं।

ईपीए मानक ने 1039 टन की अनुमति दिया है।

Tagged , , , , , , , , , , |